कायम चूरन क्यों बिकता है?

निम्न लिखित सवालों के जवाब आप को पता हैं?

१) शाम को ओफिस से छूटने के बाद टाई पहननेवाले कुछ लोग अपनी टाई निकालकर शर्ट की जेब में रख देते है, उस में टाई का थोडा हिस्सा बाहर से दिखे ऐसे रखते है | अब पूरी टाई शर्ट की जीस जेब में चली गई, उसी जेब में टाई का अंतिम छोटा सा हिस्सा सब को दिखे ऐसे बाहर रख के यह लोग क्या दिखाना चाहते हैं?

२) “होंगकोंग एअरपोर्ट के वेइटींग एरिया में फ्लाईट का इन्तज़ार कर रहा हूं” ऐसा फेसबूक पर सब को बतानेवाला कभी फेसबूक पर ऐसी पोस्ट क्यों नहीं करता कि मलाड के प्लेटफोर्म पर लोकल ट्रेन का इन्तज़ार कर रहा हूं ?

३) 300 ml की कोल्डड्रीन्क की बोतल में बचा अंतिम 15-20 ml (खुद के पास बैग होते हुए भी) हाथ में ले कर सब को दिखे ऐसे ले कर घूमनेवाला क्या प्रतीत कराना चाहता है?

४) शताब्दी या राजधानी ट्रेन में सफर करनेवाले कुछ लोग फोन पर बातचीत करते वक्त अचूक यह बताते हैं कि “मैं शताब्दी (या राजधानी) से सफर कर रहा हूं |” वह सामान्यत: किसी सीधी-सादी ट्रेन में सफर करते वक्त उस ट्रेन का नाम क्यों नहीं बताते?

५) ५००० की ट्राव्हेल बैग खरीदते वक्त १०० रुपयों के डिस्काउन्ट के लिए नोंकझोंक करनेवाला उसी कीमती बैग को ट्रेन की शेल्फ पर बेरहमी से पटककर उस कीमती बैग को अनेक गुना ज्यादा नुकसान करानेवाला क्या दिखाना चाहता है, की उसको ऐसी महंगी चीज़ों की दरकार नहीं है?

यह सारे सवालों के जवाब नुझे नहीं पता लेकिन इतना पता है कि लोगों की हजम करने की शक्ति कम हो रही है |

कायम चूर्न और उस के जैसे चूर्न बेचनेवालों का बिझनेस बहुत अच्छा चलते रहनेवाला है, क्यों कि कुछ लोगों को हजम ही नही होता…|

2 thoughts on “कायम चूरन क्यों बिकता है?

  1. Well said…
    Yeh baat kuch hajam ho gai…

    Why do i need to put up name as well as email for reply?
    This prevents me from replying the blog.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *